मंगलवार, 5 जून 2018

जानें विश्व पर्यावरण दिवस के बारे में - Know About World Environment Day in Hindi

नमस्‍कार दोस्‍तो आज हम अपने इस पोस्‍ट में विश्‍व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) के बारें में जानकारी देंगे विश्‍व पर्यावरण दिवस को वर्ष 1972 में सामाजिक व्‍यक्तियों के पर्यावरण के प्रति जागरूक करने के लिए मनाया गया इस दिवस को औपचारिक रूप से सर्वप्रथम वर्ष 1974 में 5 जून को मनाने की घोषण की गयी तो आइये दोस्‍तो जानें विश्व पर्यावरण दिवस (Know About World Environment Day) के बारे में -

Know About World Environment Day in Hindi

जानें विश्व पर्यावरण दिवस के बारे में - Know About World Environment Day in Hindi



विश्‍व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) को प्रति वर्ष 5 जून को मनाया जाता है वर्ष 2018 में विश्‍व पर्यावरण दिवस की मेेजवानी भारत देश कर रहा हैै विश्व पर्यावरण दिवस को मनाने की घोषणा सर्वप्रथम संयुक्त राष्ट्र ने पर्यावरण के प्रति वैश्विक स्तर पर वर्ष 1972 में की  लेकिन इसे  5 जून वर्ष 1974 में  पहला विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया वर्ष 1987 में विश्व पर्यावरण दिवस के आयोजन के स्‍थान को बदलते रहने का विचार सामने आया और उसके बाद से इसका आयोजन अलग अलग देशों में किया जाने लगा विश्व पर्यावरण दिवस में हर साल 143 से अधिक देश हिस्सा लेते हैं और इसमें कई सरकारी, सामाजिक और व्यावसायिक लोग पर्यावरण की सुरक्षा, समस्या आदि विषय पर विचार विमर्श करते हैं विश्व पर्यावरण दिवस को मनाने के लिए कवि अभय कुमार ने धरती पर एक गान लिखा था, जिसे 2013 में नई दिल्ली में पर्यावरण दिवस के दिन भारतीय सांस्कृतिक परिषद में आयोजित एक समारोह में भारत के तत्कालीन केंद्रीय मंत्रियों, कपिल सिब्बल और शशि थरूर ने इस गाने को पेश किया

मनाने का उददेश्‍य (Purpose of Celebrating) - 
विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) को मनाने का उददेश्‍य पर्यावरण की सुरक्षा से है पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पेड पौधों का रोपण करना तथा पर्यावरण के प्रति प्रत्‍येक व्‍यक्ति को जागरूक करना जिससे कि वे ज्‍यादा से पेड को लगायें जिससे पर्यावरण को हानि ना पहॅुच सके क्‍योकि पिछले कुछ दिनों में, पृथ्‍वी के बातावरण में काफी प्रदुषण हुआ है जिससे पर्यावरण को काफी नुकसान हुआ है इसलिए विश्‍व पर्यावरण के द्वारा समाज में उपस्थित प्रत्‍येक व्‍यक्ति को हमारे पर्यावरण के प्रति सचेत करना है

विश्व पर्यावरण दिवस की थीम (World Environment Day Theme) -

  • वर्ष 2018 का थीम - "बीट प्लास्टिक प्रदूषण" 
  • वर्ष 2017 का थीम - "प्रकृति से लोगों को जोड़ना"
  • वर्ष 2016 का थीम - "दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने के लिए दौड़ में शामिल हों"
  • वर्ष 2015 का थीम - “एक विश्व, एक पर्यावरण”
  • वर्ष 2014 का थीम - “छोटे द्वीप विकसित राज्य होते है” या “SIDS” और “अपनी आवाज उठाओ, ना कि समुद्र स्तर”
  • वर्ष 2013 का थीम - “सोचो, खाओ, बचाओ” और नारा था “अपने फूडप्रिंट को घटाओ”
  • वर्ष 2012 का थीम - “हरित अर्थव्यवस्था: क्यो इसने आपको शामिल किया है?”
  • वर्ष 2011 का थीम - “जंगल: प्रकृति आपकी सेवा में”
  • वर्ष 2010 का थीम - “बहुत सारी प्रजाति। एक ग्रह। एक भविष्य”
  • वर्ष 2009 का थीम - “आपके ग्रह को आपकी जरुरत है- जलवायु परिवर्तन का विरोध करने के लिये एक होना”
  • वर्ष 2008 का थीम - “CO2, आदत को लात मारो- एक निम्न कार्बन अर्थव्यवस्था की ओर”
  • वर्ष 2007 का थीम - “बर्फ का पिघलना- एक गंभीर विषय है?”
  • वर्ष 2006 का थीम - “रेगिस्तान और मरुस्थलीकरण” और नारा था “शुष्क भूमि पर रेगिस्तान मत बनाओ”
  • वर्ष 2005 का थीम - “हरित शहर” और नारा था “ग्रह के लिये योजना बनाये”
  • वर्ष 2004 का थीम - “चाहते हैं! समुद्र और महासागर” और नारा था “मृत्यु या जीवित?”
  • वर्ष 2003 का थीम - “जल” और नारा था “2 बिलीयन लोग इसके लिये मर रहें हैं”
  • वर्ष 2002 का थीम - “पृथ्वी को एक मौका दो”
  • वर्ष 2001 का थीम - “जीवन की वर्ल्ड वाइड वेब”
  • वर्ष 2000 का थीम - “पर्यावरण शताब्दी” और नारा था “काम करने का समय”
  • वर्ष 1999 का थीम - “हमारी पृथ्वी- हमारा भविष्य” और नारा था “इसे बचायें”
  • वर्ष 1998 का थीम - “पृथ्वी पर जीवन के लिये” और नारा था “अपने सागर को बचायें”
  • वर्ष 1997 का थीम - “पृथ्वी पर जीवन के लिये”
  • वर्ष 1996 का थीम - “हमारी पृथ्वी, हमारा आवास, हमारा घर”
  • वर्ष 1995 का थीम - “हम लोग: वैश्विक पर्यावरण के लिये एक हो”
  • वर्ष 1994 का थीम - “एक पृथ्वी एक परिवार”
  • वर्ष 1993 का थीम - “गरीबी और पर्यावरण” और नारा था “दुष्चक्र को तोड़ो”
  • वर्ष 1992 का थीम - “केवल एक पृथ्वी, ध्यान दें और बाँटें”
  • वर्ष 1991 का थीम - “जलवायु परिवर्तन वैश्विक सहयोग के लिये जरुरत”
  • वर्ष 1990 का थीम - “बच्चे और पर्यावरण”
  • वर्ष 1989 का थीम - “ग्लोबल वार्मिंग; ग्लोबल वार्मिंग”
  • वर्ष 1988 का थीम - “जब लोग पर्यावरण को प्रथम स्थान पर रखेंगे, विकास अंत में आयेगा”
  • वर्ष 1987 का थीम - “पर्यावरण और छत: एक छत से ज्यादा”
  • वर्ष 1986 का थीम - “शांति के लिये एक पौधा”
  • वर्ष 1985 का थीम - “युवा: जनसंख्या और पर्यावरण”
  • वर्ष 1984 का थीम - “मरुस्थलीकरण”
  • वर्ष 1983 का थीम - “खतरनाक गंदगी को निपटाना और प्रबंधन करना: एसिड की बारिश और ऊर्जा”
  • वर्ष 1982 का थीम - “स्टॉकहोम (पर्यावरण चिंताओं का पुन:स्थापन) के 10 वर्ष बाद”
  • वर्ष 1981 का थीम - “जमीन का पानी; मानव खाद्य श्रृंखला में जहरीला रसायन”
  • वर्ष 1980 का थीम - “नये दशक के लिये एक नयी चुनौती: बिना विनाश के विकास”
  • वर्ष 1979 का थीम - “हमारे बच्चों के लिये केवल एक भविष्य” और नारा था “बिना विनाश के विकास”
  • वर्ष 1978 का थीम - “बिना विनाश के विकास”
  • वर्ष 1977 का थीम - “ओजोन परत पर्यावरण चिंता; भूमि की हानि और मिट्टी का निम्निकरण”
  • वर्ष 1976 का थीम - “जल: जीवन के लिये एक बड़ा स्रोत”
  • वर्ष 1975 का थीम - “मानव समझौता”
  • वर्ष 1974 का थीम - “ ’74’ के प्रदर्शन के दौरान केवल एक पृथ्वी”
  • वर्ष 1973 का थीम - “केवल एक पृथ्वी”

Tag - World Environment Day 2018, World Environment Day, world environment day 2018 theme and slogan, information about World Environment Day in hindi, brief information about World Environment Day, know about World Environment Day in hindi, World Environment Day 2018 in india, World Environment Day in india

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Thank You for Comment