शुक्रवार, 6 अप्रैल 2018

100 महत्वपूर्ण जीव विज्ञान प्रश्नोत्तरी - 4 - 100 Important Biology Quiz - 4

दोस्‍तो अाज हम अपने इस पोस्‍ट में आपको जीव विज्ञान के 100 महत्‍वपूर्ण तथ्‍यों को जानेंगे जिन्‍हे जानकर आप प्रतियोगी परीक्षाओं में जीव विज्ञान के प्रश्‍नों को अासानी से हल कर सकते है तो आइये दोस्‍तो जानते है 100 महत्वपूर्ण जीव विज्ञान प्रश्नोत्तरी (100 Important Biology Quiz) के बारे मेें -

100 Important Biology Quiz

100 महत्वपूर्ण जीव विज्ञान प्रश्नोत्तरी - 100 Important Biology Quiz

  1. सूक्ष्म एवं बडे दोनो प्रकार के जीवो मे होने वाली प्रक्रिया अवायुवीय श्‍वसन कहलाती है, केवल सूक्ष्म जीवों मे होने वाली क्रिया किण्डवन कहलाती है।
  2. पत्तियों की निचली सतह स्थित रन्ध्रों द्वारा पौधो में सम्पन्न होने वाली क्रिया वाष्‍पोत्सर्जन कहलाती है।
  3. मानव शरीर के ऊतकों में ऑक्सीजन का परिसंचरण क्रमशः फेंफडें, रक्त, ऊतक क्रम में होता है।
  4. एक पुश्प कुछ किस्म के किटों को नियमित तौर पर आकर्शित करता है जिससे पौधे को विकासिय लाभ प्राप्त होता है इसका कारण है क्योकि किटों की कुछ प्रजातियां फूलों को खाती है एवं इससे पौधे की अन्य प्रजातियों के पराग प्राप्त होते है।
  5. क्रायोजनिक्स का उपयोग मज्जा कोशिकाओं को संरक्षित रखने में , अत्यन्त कम रक्त बहाये ऑपरेशन में, एवं खाद्य पदार्थ के संरक्षण में किया जा सकता है।
  6. लैमार्क ने उपार्जित लक्षणों की वंषागति का सिद्वान्त प्रतिपादित किया था ।
  7. पौधो को बिना मिटटी का उपयोग किये एवं बिना जल का उपयोग किये विकसित करने की तकनीक को हाइड्रोपोनिक्स कहते है।
  8. त्वचा का रंग निर्धारित करने वाला वर्णक मैलेनिन पराबैगनी प्रकाश के लिए अपारदर्शक होता है।
  9. एक बीजपत्री पौधो की पत्तियां संकरी होती है जबकि द्विबीजपत्री पौधो की पत्तियां चौडी होती है
  10. जब दो जीव एक साथ रहते है किन्तु इस प्रक्रिया में केवल एक जीव को लाभ होता है तो इस स्थिति को परजीविता कहते है।
  11. मानव का हदय नाशपाती के आकार का पेशीय अंग होता है। यह उदर गुहा क बायें भाग में स्थित होता है यह दोनों फेफडों के मध्य में स्थित होता है। यह एक थैलीनुमा संरचना में बन्द होता है जिसे पेरीकार्डियम कहते है।
  12. रसाकुन्चन ग्लूकोज के अणुओं को छोटे अणुओं में विखण्डित कर देती है एवं एडिनोसिन ट्राइफॉस्फेट की छोटी मात्रा उत्पन्न करती है।
  13. अगनास्य मानव शरीर का दूसरा सबसे बडा ग्रन्थि युक्त अंग है एवं यह अन्तःस्त्रावी एवं बहिस्त्रावी दोनां प्रकार की ग्रन्थि है।
  14. लाइसोसोम प्रोटीन संश्‍लेषण के स्थल है एवं इन्हे आत्मघाती थैली के नाम से जाना जाता है।
  15. इम्नियोसेंटेसिस गर्भाश के अन्दर बढ रहे बच्चे से रक्त का नमूना लेने की प्रक्रिया है एवं यह गर्भधारण के 16 वे सप्ताह में किया जाता है इससे गर्भस्थ शिशु में किसी प्रकार की विकृति का पता चल जाता है।
  16. अण्डे में काफी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है प्रोटीन के साथ साथ अण्डे में विटामिन बी12, लोहा एवं फॉस्फोरस भी पाये जाते है।
  17. इरिथ्रोसाइटस, फफॅूद एवं वायरस कोशिका सिद्वान्त से भिन्न होते है।
  18. मेंढक वयस्क होने पर ही फेंफडों द्वारा सांस लेते है जबकि सरीसृप जन्म से ही फेंफडों द्वारा सांस लेते है।
  19. फाइलेरिया कृमि, नहरूआ (गिनी कृमि) , अंकुशकृमि(हुकवर्म) एवं पिनकृमि आदि सभी सूत्र कृमि है।
  20. मानव शरीर में थायराइड ग्रन्थि की कुसंक्रिया के कारण मिक्सीडीमा होता है।
  21. यकृत शोध - बी (हिपेटाइटिस बी) जो यकृत को प्रभावित करता है वास्तव में एक विषाणु (वायरस) होता है।
  22. वनस्पति जगत में सबसे बडा बीजाण्डा, सबसे बडे नर व मादा युग्मक व सबसे बडा वृक्ष अनावृत बिजीयों में पाया जाता है।
  23. सिथलिस ट्रीपोनिमापैलिडम द्वारा फैलता है।
  24. किसी पौधे की शीर्षस्थ कलिका को काटने का परिणाम स्वरूप पार्ष्व शाखाओं की वृद्वि होती है।
  25. अन्तः प्रद्रव्यी जालिका कोशिका अंगक प्रोटीन के ग्लाइकोसाइलेसन से सम्बन्धित होती है।
  26. सी0 वी0 फ्रीश ने मधुमक्खीयों की भाशा खोजी थी।
  27. लाइसोसोम जल अपघटक इन्जाइमों का भण्डार है जलीय अपघटक विकारों के कारण ही इसे आत्मघाती थैली कहते है।
  28. पृथ्वी पर प्रथम जीवधारी रसायन प्रपोषित थे।
  29. मानव के स्वच्छ मण्डल कार्निया में रक्त का संचरण नही होता है।
  30. जीवधारियों की विविधता का कारण उत्परिवर्तन है।
  31. जीर्णता के लिए एब्सिसिक अम्ल हार्मोन उत्तरदायी है।
  32. फलों को गिरने से एन0ए0ए0 रोकता है।
  33. एल0एस0डी0 एक विभ्रमक(हेलूसिनोजेनिक) है
  34. आमतौर पर बातचीत की दौरान ध्वनि की तीव्रता 40 से 60 डेसिबल होती है।
  35. पौधे की खेती के लिए मिटटी की सबसे अनुकूल पी0एच0 6.5 से 7.5 है।
  36. मच्छरों के लार्वा को चुन चुन के खाने वाली मछली रोहू मछली है।
  37. चन्द्रमा पर जीवन ना होने के कारण ऑक्सीजन की अनुपस्थिति है
  38. अब तक खोजे गये जीवाष्‍मों के अनुसार मावन की उत्पत्ति और विकास का प्रारम्भ अफ्रीका से हुआ है।
  39. यदि स्तनधारियों की वृक्क नलिका में हेनले लूप होती तो मूत्र अधिक पतला हो जाता है।
  40. लम्बे उपवास के दौरान शरीर द्वारा कार्बन पदार्थ का उपयोग निम्न क्रम में होगा पहले कार्बोहाइड्रेट-वसा - प्रोटीन होता है।
  41. किसी जाति की उत्पत्ति के लिए सबसे महत्वपूर्ण जननात्मक प्रथक्करण है।
  42. चावल की खेती में हरी घास की खाद्य की भॉति स्तेमाल होने वाली जलीय फर्न अजोला है।
  43. केले का खाने योग्य भाग मध्यफल भित्ती तथा अल्पविकसित अन्तःफल भित्ती होता है।
  44. खजूर का खाने योग्य भाग फलभित्ती होती है।
  45. कृत्रिम पेसमेकर के रोपण का केन्द्र साइयनुएट्रीयलनोड होगा।
  46. मानव प्रदूषित वायु में श्‍वसन करने पर कार्बनमोनो आक्साइड की अत्यधिक मात्रा श्‍वास के साथ चली जाती है। जिससे रूधिर में कार्बोक्सी हीमोग्लोबीन की मात्रा बढ जाती है।
  47. कुंजीशिला जाति एक ऐसी जाति है जो समुदाय के कुल जैव भार का सूक्ष्म भाग है परन्तु समुदाय के संगठन एवं उत्तरजीविता को अत्यधिक प्रभावित करती है।
  48. यूरिकोटेलिज्म पक्षीयों, सरीसृपो एवं कीटों में पायी जाती है
  49. आजकल जन्तु कोषिका संबर्धन तकनीक का सर्वाधिक उपयोग वैक्सीन निर्माण में होता है।
  50. मिथाइल आइसोसायनेट , जल से क्रिया कर विशैली गैस बनाता है
  51. संसार की सबसे हल्की गर्म और महंगी शहतूश का स्त्रोत चीरू है।
  52. गुणसूत्रों पर जीनों का स्थान सुनिश्चित करने की प्रक्रिया आनुवांषिक नक्षा कहलाती है।
  53. पादप विविधता को संरक्षित करने के लिए जैव मण्डल संरक्षण का उपयोग अधिक प्रभावीशाली होता है।
  54. लिंग गुणसूत्र, आलंगी गुणसूत्रों एवं माइटोकोन्ड्रीया से प्राप्त डी0एन0ए0 से प्रमाणित होता है कि मनुष्‍य चिम्पेंजी से अन्य होमीनॉइड कपियों की तुलना में अधिक समानता रखता है।
  55. मासिक चक्र के दौरान महिलाओं में अण्ड निर्माण सामान्यतः क्रम प्रसारी प्रावस्था के अन्त में होती है।
  56. मनुष्‍य के वेगस तन्त्रिका में क्षति सामान्यतः जीव्हा की गति को प्रभावित नही करेगी ।
  57. कैंसर कोशिकाएँ विकर्णो द्वारा सामान्य कोशिकाओं की तुलना में जल्दी नश्ट हो जाती है। क्योकि इनमें कोशिका विभाजन तीव्र गति से होता है
  58. स्तनधारीओं के शरीर का एक विशिष्‍ट लक्षण डायफ्राम की उपस्थिति है।
  59. लेटराइट मिटटी में एल्यूमिनियम तत्व पाया जाता है।
  60. टेरारोजा मिटटी गुलाब सर्वाधिक उपयुक्त होती है।
  61. चिरनोजेम्स मिटटी संसार की सबसे धनी मिटटी है
  62. पेट्रोल में 5 प्रतिशत एल्कोहल मिलाने की अनुमति भारत सरकार द्वारा दी गयी है।
  63. इलेक्ट्रॉन स्पिन रेजोनेन्स(ई0एस0आर0) और जीवाष्‍मीय डी0एन0ए0, जैव विकास के काल निर्धारण की नयी तकनीक है।
  64. बाहय केन्द्रकीय अनुवांशिकता माइटोकोण्ड्रीया तथा हरितलवक में उपस्थित जीनों का परिणाम है।
  65. मेंढक के लारवा(टेडपोल) में गिल्स में की उपस्थिति इंगित करती है कि मेंढक गिल्सयुक्त पूर्वजों से विकसित हुआ है।
  66. ओपेरिन के अनुसार ऑक्सीजन पृथ्वी के आदि वायुमण्डल में उपस्थित नही है।
  67. मानव का घनिष्‍टतम सम्बन्धी चिम्पैन्जी है।
  68. ऐग्रोबैक्टीरियम ट्यूमिफेशियन्स जीवाणु का पौधे में आनुवंशिक इन्जीनियरिंग में उपयोग किया जाता है।
  69. कॉपर - टी का कार्य ब्लास्टोसिस्ट के आरोपण को रोकना है।
  70. अधिक नमक वाले अचार में जीवाणु मर जाते है क्योकि ये जीव द्रव्यकुंचित हो जाते है, और इस तरह मर जाते है।
  71. वृक्कों द्वारा रूधिर के संगठन के नियन्त्रण को सन्तुलित करने की क्रिया होम्योस्टेसिस कहलाती है।
  72. पक्षियो में यूरिक अम्ल द्वारा उत्सर्जन शरीर के जल के संरक्षण के लिए सहायक होता है।
  73. स्तनधारियों में मुख्य उत्सर्जी पदार्थ यूरिया होता है।
  74. मनुष्‍य तथा स्तनियों में यूरिया का निर्माण यकृत में होता है।
  75. मूत्र को रखने पर उसमें से तीखी गन्ध आती है।इसका कारण है कि यूरिया का जीवाणु द्वारा अमोनिया में बदला जाना ।
  76. वृक्को के अतिरिक्त उत्सर्जन में यकृत भी सहायक होता है।
  77. वेसोप्रेसिन मूत्र के सान्द्रण से सम्बधित हैं।
  78. कोशिका झिल्ली प्रोटीन एवं लिपिड की बनी होती है।
  79. माइटोकोण्ड्रिया कोशिका का शक्ति केन्द होता है।
  80. मूलाग्र की एक कोशिका से 256 कोशिकाएें बनने में 8 बार समसूत्री विभाजन होता है।
  81. अर्धसूत्रण के विभाजन के फलस्वरूप बनी संतति कोशिकाएें  मातृकोशिकाओं से भिन्न होती है क्योकि अर्धसूत्री विभाजन क्रिया के दौरान जीनविनिमय होता हैं।
  82. गुणसूत्र की संरचना में डी0एन0ए0 व प्रोटीन भाग लेते है।
  83. माइटोकोण्ड्रिया के अन्तः वलन क्रिस्टी कहलाते है।
  84. केन्द्रिका में क्रमशः प्रोटीन आर0एन0ए0 व डी0एन0ए0 का अनुपात 85 प्रतिशत , 10 प्रतिशत व 5 प्रतिशत हेता है।
  85. जन्तु कोशिका में सेल्यूलोज नही पाया जाता है।
  86. जैव संगठन का सही क्रम ,कोशिकाएें - ऊतक - अंग - अंगतन्त्र - जीव, है।
  87. प्रोकैरियोटिक कोशिका यूकैरियोटिक कोशिका से भिन्न होती है क्योकि माइटोकोण्ड्रिया तथा गॉल्जीकाय अनुपस्थित है एवं केन्द्रक पर आवरण नही होता
  88. इंफ्लुएंजा विषाणु, क्लोरेला एवं यीस्ट प्रोकैरियोटिक नही है।
  89. तेल प्रदुशक को समाप्त करने के लिए सुपरबग आनन्द चक्रवर्ती ने तैयार किया है।
  90. डी0एन0ए0 फिंगर प्रिंटिग के लिए भारत में विश्‍व प्रसिद्व विशेषज्ञ डॉ0 लालजी सिंह है।
  91. क्लोनिंग द्वारा डॉली नाम भेड को डॉ0 विल्मट ने तैयार किया , वे इंग्लैण्ड के वैज्ञानिक है।
  92. भारत में एन0डी0आर0आई0 करनाल के वैज्ञानिकों ने क्लोनिंग द्वारा भैस के विकसित किया ।
  93. दो भिन्न - भिन्न प्रकार के डी0एन0ए0 अणुओं का निर्माण संयुक्त करके पुनर्योगज (रीकॉम्बीनैण्ट) डी0एन0ए0 का सर्वप्रथम निर्माण पॉल बर्ग ने सन् 1972 में किया ।
  94. जैव तकनीक द्वारा निर्मित इंन्सुलिन सबसे पहले बाजार में 1982 में पहुॅची ।
  95. भारत के जैव प्रोधोगिकी विभाग द्वारा स्थापित संस्थान आई0सी0ए0आर0 है।
  96. पशुओं मे सबसे अधिक प्रजनन क्षमता सूअरों की हेती है।
  97. राश्ट्रीय जैव उर्वरक विकास केन्द्र गाजियाबाद में स्थित हैं।
  98. भारत में जीन इन्जीनियरी द्वारा कीटरोधी किस्में तम्बाकू की तैयार की गयी है।
  99. कोलॉइडल घोल जीव द्रव्य हेता है।
  100. लाइसोसोम्सू पाचन केन्द्र है।

Tag - 100 महत्वपूर्ण जीव विज्ञान प्रश्नोत्तरी, 100 Important Biology Quiz 100, महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी, 100 Important General Knowledge Quiz, most important general knowledge questions in hindi, important general knowledge questions and answers, important gk questions, important gk questions for competitive exams, most important general knowledge questions in hindi/pdf, gk questions and answers, important gk questions pdf, frequently asked gk questions in competitive exams pdf

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Thank You for Comment