शनिवार, 28 अप्रैल 2018

जानें प्रसिद्ध कवयित्री महादेवी वर्मा के बारे में - Learn About Famous Poetess Mahadevi Verma in Hindi

दोस्‍तो आज हम अपने इस पोस्‍ट में हिन्‍दी साहित्‍य की प्रसिद्ध कवयित्री महादेवी वर्मा के जीवन की विशेषताओं तथा हिन्‍दी साहित्‍य के क्षेत्र में उनके योगदान पर प्रकाश डालेंगे तो आइये दोस्‍तो जानते हैै हिन्दी साहित्य की प्रसिद्ध कवयित्री महादेवी वर्मा के बारें में -

Learn About Famous Poetess Mahadevi Verma in Hindi

जानें प्रसिद्ध कवयित्री महादेवी वर्मा के बारें में - Learn About Famous Poetess Mahadevi Verma in Hindi

  1. हिन्दी साहित्य की प्रसिद्ध कवयित्री महादेवी वर्मा का जन्म वर्ष 1907 ई० में उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में कायस्थ परिवार में हुआ था 
  2. इनके पिता का नाम श्री गोविन्द प्रसाद वर्मा तथा माता का नाम हेमरानी था 
  3. इनके पिता भागलपुर के एक कॉलेज में प्रधानाचार्य तथा माता परम विदुषी धार्मिक महिला थी 
  4. महादेवी वर्मा का विवाह मात्र नौ वर्ष की अल्पायु में ही हो गया था लेकिन इनका दाम्पत्य जीवन सुखमय नहीं रहा 
  5. इनकी प्रारम्भिक शिक्षा इंदौर में और उच्च शिक्षा प्रयाग में हुई लेकिन इनके विवाह के बाद इन्होने उच्च शिक्षा के तरफ अपना रुख किया और सम्मानजनक श्रेणी के साथ इन्होने बी०ए० एवं एम०ए० की परीक्षा उत्तीर्ण की 
  6. इसके बाद वर्ष 1965 ई० तक प्रयाग महिला विद्यापीठ की प्रधानाचार्या के रूप में कार्यरत रही 
  7. महादेवी वर्मा जी को शिक्षा के प्रति असीम योगदान के कारण इन्हे उत्तर प्रदेश विधान परिषद् का सदस्य मनोनित किया गया 
  8. महादेवी जी ने कुछ समय तक “चाँद” पत्रिका के संपादिका के रूप में अपना योगदान दिया 
  9. इस पत्रिका के संपादन से इन्होने नारी शक्ति के अधिकारों एवं स्वतंत्रता का समाज में सम्मान जनक स्थान दिया और कहा की नारी को अपने अधिकारों की रक्षा के लिये शिक्षित होना अति आवश्यक है 
  10. इस प्रतिभा के कारण इन्हें भारत के राष्ट्रपति द्वारा “पद्मभूषण” की उपाधि प्रदान की गयी 
  11. हिन्दी साहित्य सम्मलेन की ओर से इन्हे “सेकसरिया” का पुरस्कार तथा “मंगला प्रसाद पारितोषिक” मिला 
  12. 1 मई 1983 ई० में भारत भारती, तथा नवम्बर 1983 ई० यामा पर “ज्ञानपीठ” पुरस्कार से इन्हे सम्मानित किया गया 
  13. हिन्दी साहित्य की प्रसिद्ध कवयित्री महादेवी वर्मा का देहावसान 11 सितम्बर 1987 ई० को प्रयाग में हो गया 
  14. इन्‍होने इनकी प्रमुख रचनाऐं उर्दू और अंग्रेजी में तथा इन्‍होने मुहावरों एवं लोकोक्तियों का प्रयोग भी इनकी रचनाओं में हुआ है 
  15. प्रमुख कृतियों में “निहार”, “रश्मि”, “नीरजा”, “सांध्यगीत”, “दीपशिखा”, “यामा”, है
Tag - Learn About Famous Poetess Mahadevi Verma, know About Famous Poetess Mahadevi VermaList of India's Most Inspirational Women Poets, Mahadevi Verma biography in hindi, Mahadevi Verma biography, The Great Indian Poetess mahadevi verma, mahadevi verma in hindi, mahadevi verma stories in hindi

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Thank You for Comment