बुधवार, 25 दिसंबर 2019

जानें अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन परिचय के बारे में – Know About Biography of Atal Bihari Vajpayee in Hindi



नमस्‍कार दोस्‍तो आज हम अपने इस पोस्‍ट में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) के जीवन से जुडें कुछ महत्‍वपूर्ण तथ्‍यों के बारें में जानकारी देंगे अटल बिहारी वाजपेयी बहु प्रतिभावान राजनैतिज्ञ आदर्शवादी, प्रशंसनीय राजनेता तथा सफल कवि थे तो आइये दोस्‍तो जानते है भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Fact About Atal Bihari Vajpayee in Hindi) के बारें में -


Know About Biography of Atal Bihari Vajpayee in Hindi

जानें अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन परिचय के बारे में – Know About Biography of Atal Bihari Vajpayee in Hindi


अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) जी का जन्‍म 25 दिसम्बर 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ था इनके पिता का नाम कृष्ण बिहारी वाजपेयी (Krishna Bihari Vajpayee) और माता का नाम कृष्‍णा देवी था अटल जी के 7 भाई बहन थे इनके पिता पेशे से एक स्‍कूली अध्‍यापक थे इन्‍होंने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा स्‍वरास्‍ती स्‍कूल से पूरी की और लक्ष्‍मीबाई कॉलेज से इकोनोमिक्स में ग्रेजुएशन की पढाई पूरी की
कानपुर के डी ए वी कॉलेज से इन्होंने राजनीति विज्ञान में एम.ए. की पढाई की वाजपेयी जी ने जीवन पर्यन्‍त विवाह नहीं किया लेकिन उन्होंने B N कॉल की 2 बेटियां नमिता और नंदिता को गोद लिया था वाजपेयी जी ने पहली बार वर्ष 1942 में भारत छोडो आन्‍दोलन में भाग लिया जिसके चलते इन्‍हें 23 दिन के लिए जेल भी जाना पडा इसी दौरान उनकी मुलाकात भारतीय जनसंघ के नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी से हुई इन्‍होंने पहली बार वर्ष 1955 में चुनाव लडा लेकिन ये हार गये इसके बाद इन्‍होंने वर्ष 1957 में पहला लोकसभा चुनाव बलरामपुर से जीता था
बाजपेयी जी लोकसभा में वर्ष 1957 से वर्ष 2009 तक कुल 10 बार एक सांसद रहे इन्‍हें 6 मई वर्ष 1996 को देश के 10 वें प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया लेकिन ये केवल 13 दिनों तक ही प्रधानमंत्री रह सके इसके बाद पुनः 19 मार्च वर्ष 1998 को देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई लेकिन यह सरकार भी 13 माह ही चल सकी इसके बाद 13 अक्टूबर वर्ष 1999 को अटल जी ने तीसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली और पूरे पॉच वर्ष तक देश केे प्रधानमंत्री रहे इसके अलावा जवाहरलाल नेहरु के बाद अगर कोई 3 बार प्रधानमंत्री बना है तो वो अटल जी ही थे अटल बिहारी वाजपेयी जी पहले गैर कांग्रसी प्रधानमंत्री थे जिन्‍होंने पूरे 5 वर्ष का कार्यकाल पूरा किया था

बाजपेयी जी एक मात्र ऐसे सांसद थे जो उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश और गुजरात चार अलग-अलग राज्यों से सांसद बने अटल बिहारी बाजपेयी भारत के पहले विदेशमंत्री और प्रधानमंत्री थे जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र सभा में हिंदी में भाषण दिया था इन्‍होंने वर्ष 2005 में अपने राजनैतिक जीवन से रिटायमेंट ले लिया इसके पश्‍चात वाजपेजी जी ने 19 फ़रवरी वर्ष 1999 को सदा-ए-सरहद नाम से दिल्ली से लाहौर तक बस सेवा शुरू की गई और वे उद्घाटन करते हुए प्रथम यात्री बने अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन को “गुड गवर्नेंस डे” के रूप में मनाया जाता है
अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) ने अपनी आखरी सांस दिल्‍ली के AIIMS अस्पताल में 16 अगस्त 2018 को ली अटल जी की मृत्यु पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी द्वारा पूरे देश में सात दिन केे राजकीय शोक की घोषणा की गई है और सात दिनों तक हमारे देश का झंड़ा आधा झुकाया जायेगा इसा आदेश भी जारी किया गया

⇒प्रमुख सम्‍मान

  • 1992 – पद्म विभूषण
  • 1994 – लोकमान्य तिलक अवार्ड
  • 1994 – बेस्ट सांसद अवार्ड
  • 1994 – पंडित गोविन्द वल्लभ पन्त अवार्ड
  • 2014 – भारत रत्न


Tag – Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi, Atal Bihari Vajpayee Life History In Hindi, important information about atal bihari vajpayee in hindi, Interesting Facts about ‘Atal Bihari Vajpayee’ in Hindi

1 टिप्पणी:

  1. Hi, Hope you are doing great,
    I am Navya, Marketing executive at Pocket FM (India's best audiobooks, Stories, and audio show app). I got stumbled on an excellent article of yours about Dr. Bhim Rao Ambedkar Biography and am really impressed with your work. So, Pocket FM would like to offer you the audiobook of Dr. Bhim Rao Ambedkar Biography (https://www.pocketfm.in/show/fa33d309f12fc7634d6effa7c09f22e38ae4e2c2). Pls mail me at navya.sree@pocketfm.in for further discussions.

    PS: Sry for the abrupt comment (commented here as I couldn't access your contact form)

    जवाब देंहटाएं

Thank You for Comment